Vigilance

जागरूकता

 

Shri. T V Reddy, (IFS) (Assam &Meghalaya Joint Cadre) assumed additional charge as Chief Vigilance Officer of FCI ARAVALI GYPSUM AND MINERALS INDIA LIMITED (FAGMIL) on 18th  Dec, 2017. This job is in addition to his charge of Chief Vigilance Officer, RCF since 21st September 2017.

He did his M.Sc in Chemistry with distinction from Osmania University and Diploma in Forestry awarded by  Indian Council of Forestry Research and Education (ICFRE) from Indira Gandhi National Forest Academy (IGNFA),Dehradun. He has worked as Executive in ONGC from 1985 to 1987. He was selected for IFS in the year 1987. He has served in Forest Dept in various capacities such as Assistant Conservator of Forest (ACF), Divisional Forest Officer (DFO), Conservator of Forests and Chief Conservator of Forests from 1989 to 2013. He worked as CVO in Mishra Dhatu Nigam Limited (MIDHANI) from 18.01.2013 to 20.09.2017. He also held the additional charge of CVO, HSL, Vizag and BDL Defence PSUS under Ministry of Defence Production. He was the President of Vigilance Study Circle-Hyderabad Chapter from 2015 to 2017.

VIGILANCE VISION

FAGMIL की सतर्कता प्रभाग एक नैतिक जलवायु और वातावरण का निर्माण और रखरखाव करने के लिए निर्धारित है

संगठन में विश्वसनीयता की, जहां लोग अखंडता, निष्पक्षता और पारदर्शी तरीके से काम करते हैं

संगठन के लिए उच्चतम नैतिक मानकों को कायम रखना।

 

शिकायत दर्ज कराने के लिए दिशा - निर्देश

  • कम्‍पनी के साथ व्‍यवसाय लेनदेन होने की स्थिति में, किसी भी व्‍यक्ति, कर्मचारी या किसी भी विक्रेता द्वारा शिकायत दर्ज कराई जा सकती है |
  • शिकायत विशिष्‍ट तथ्‍य की प्रांसगिक जानकारी के साथ होना चाहिए |
  • शिकायत के सत्‍यापन एवं प्रसंस्‍करण के लिए, सम्पर्क नाम और पता होना अनिवार्य है |
  • सतर्कता प्रभाग द्वारा केवल उन्‍ही शिकायतो को जॉच के लिए लिया जायेगा जोकि सतर्कता कोण के होंगे |
  • शिकायते जो सतर्कता कोण के नही होंगे उन्‍हे आगे की कारवाई के लिए कार्मिक विभाग को भेजा जायेगा |
  • शिकायत की दर्ज कराने के बाद इस विषय पर कोई पत्राचार नहीं किया जायेगा |

GOVT. OF INDIA RESOLUTION ON PUBLIC INTEREST DISCLOSURE AND PROTECTION OF INFORMER.

  •   निर्दिष्‍ट एजेंसी भ्रष्‍टाचार या कार्यालय के दुरूपयोग के किसी भी आरोप के प्रकटीकरण के लिए लिखित शिकायते प्राप्‍त करते है और उचित कार्रवाई की सिफारिश के रूप में भारत सरकार के केन्‍द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) को अधिकृत किया गया है |
  •   इस सबंध में आयोग के अधिकार क्षेत्र के केन्द्रिय सरकार के किसी भी कर्मचारी या किसी निगम द्वारा या किसी केन्द्रिय अधिनियम के तहत स्‍थापित करने के लिए प्रतिबंधित किया जाएगा, सरकारी कम्‍पनियों, सोसायटी या स्‍थानीय अधिकारियों के स्‍वामित्‍व या सरकार द्वारा नियंमित है राज्‍य सरकार और राज्‍य सरकार या उसके निगमो आदि की गतिविधियों से कार्यरत कर्मियो, आयोग के दायरे में नहीं आएगा |
  •   इस संबंध में आयोग, जो भी इस तरह की शिकायतों को स्‍वीकार करेंगे, शिकायतकर्ता के रहस्‍य की पहचान रखने की जिम्‍मेदारी होगी | इसलिए आम जनता सूचित किया जाता है कि कोई भी शिकायत हो तो इस संकल्‍प के तहत् बनाये गये निम्‍नलिखित पहलुओ का पालन करेगें

o   शिकायत बन्‍द एवं सुरक्षित लिफाफे में होना चाहिए |

o   लिफाफा सचिव, केन्‍द्रीय सतर्कता आयोग को संबोधित किया जाना चाहिए और सार्वजनिक हित प्रकटीकरण के तहत् शिकायत उपलिखित किया जाना चाहिए |

o    यदि लिफाफा अपरलिखित एवं बन्‍द नहीं है तो उपरोक्‍त संकल्‍प के तहत् शिकायतकर्ता की रक्षा कर पाना आयोग के लिए संभव नहीं होगा और शिकायत आयोग की‍ शिकायत नीति के प्रति सामान्‍य रूप से निपटा जाएगा |

o   शिकायतकर्ता को शिकायत की शुरूआत में या अंत में या सलंग्‍न लेटर में उसकी / उसका नाम एवं पता देना चाहिए |

o   आयोग गुमनाम एवं छदमनाम आदि से शिकायतो का विचार नहीं करेगा|

o   शिकायती मसौदा ध्‍यानपूर्वक तैयार किया जाना चाहिए कि उसका/उसकी पहचान के रूप में किसी को कोई सुराग या जानकारी नहीं मिल सके हालांकि शिकायती विवरण विशिष्‍ट एवं निरीक्षण योग्‍य होना चाहिए |

o   एक आदेश्‍ में व्‍यक्ति कि पहचान की रक्षा करने के लिए, कमीशन कोई रसीद जारी नहीं करेगा एवं विसल बलोअर द्वारा अपने स्‍वयं के हित में आयोग के साथ किसी भी प्रकार का  पत्राचार नहीं करने की सलाह दी जाती है|

o   आयोग यह आश्‍वासन देगा कि मामलों के तथ्‍यों का निरीक्षण किया जा रहा है एवं भारत सरकार के उपरलिखित संकल्‍पो के तहत उचित कार्यवाही की जायेगी |

o   यदि किसी तरह की आगे भी स्‍पस्‍टीकरण की आवश्‍यकता है तो आयोग शिकायतकर्ता के समर्प्‍क में रहेगा|

o   आयोग इस संकल्‍प के तहत शिकायतकर्ता के विरूद अफसोसजनक शिकायतें बनाने पर कार्यवाही कर सकती है|

फेगमिल निगमित कार्यालय जोधपुर                      0291-2550297

नाम और पदनाम ईमेल आईडी फ़ोन नंबर
टी. वी. रेड्डी ,मुख्‍य सर्तकता अधिकारी  
सुरेन्दर कौर , उप प्रबन्धक (सर्तकता) 0291-2544151